Halaman


Search Engine  kaise kaam karta hai

Search Engine किस तरह से काम करता है. SERP की पूरी जानकारी हिंदी में - Search Engine और SEO के काम करने का तरीका बिलकुल आसान है , SEO कोई राकेट साइंस नहीं है| यदि आप सही मार्गदर्शन प्राप्त करते हैं, तो आप आसानी से इसके लाभों को लागू कर सकते है | तो आईये देखते है क्या है SEO  और इसे कैसे और किओ किया जाता है।

सर्च इंजन वो वेबसाइट होती है जहा लोग अपने एक्छित चीजों को सर्च करते है , जैसा की google  या Yahoo या bing. वेब सर्च इंजन एक सॉफ्टवेयर है, जो वर्ल्ड वाइड वेब पर किसी भी key word की खोज करता हैं और जीन वेब पेजेस में वे कीवर्ड होते हैं उनका रिजल्‍ट देता है| हर सर्च इंजन का सर्च करने का अलग तरीका होता हैं .मुख्यतः सर्च इंजन के दो काम है

सर्च इंजन क्या है ? what is Search Engine 

1. वर्ल्ड वाइड वेब पर अरबों दस्तावेज़, पृष्ठ, फ़ाइलें, समाचार, वीडियो और मीडिया को Crwal  और और फिर उसे Index करना।

2. फिर यूजर को उसके qury के हिसाब से उसे अपने मौजदा इंडेक्स किये हुए वेब पेज में से रैंक के आधार पर सही जवाब बताना ।


तो हम ये कह सकते है की सर्च इंजन एक answer मशीन की तरह काम करता है , वो वेब की दुनिया से लाखों वेबसाइट, डॉक्यूमेंट , इमेज अपने पास संजो के रखता है और आपकी जरुरत के हिसाब से आपको रिजल्ट दे देता है ।


SEO हमे क्यो करना चाहिए ?

यदी आपके पास कोई वेबसाइट है या कोई ब्लॉग है तो आपको उसमे traffic या visitor जरूर चाहिए होगा उस्से कुछ हासिल करने के लिए , सर्च इंजन traffic के सबसे बड़े source है तो कोई भी जरूर चाहेगा कि उसके web site के या business के key word से कोई कुछ भी सर्च करे तो उसका web / blog जरूर ऊपर आये और उसका visitor / business बढे । ईसी लिए seo, digital मार्केटिंग की पहली सीढ़ी है ।
जो साइट search engine optimized है वो बिना search engine optimized site से ऊपर दिखेंगी सर्च इंजन में तो आपको ट्रैफिक से बहुत फायदा होगा । Seo करना शिर्फ आपके search engine की रैंकिंग ही नहीं बढ़ाएगा बल्कि आपके website को smooth चलने में आपकी मदद भी करेगा जो आपके site के user के experince को अच्छा करेंगी । इसके अलावा भी seo करने के बहुत करण है जिनके कारण आपको search इंजन ऑप्टिमाइजेशन जरूर करना चाहिए ।

कैसे किया जाता है SEO  सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन

दो तरीको से किया जाता है
1. On Page SEO –  On Page SEO वो तरीके जो आप अपने वेबसाइट में करते है सर्च इंजन में उप्पेर आने के लिए कहलाते है|किसी एकल ब्लॉग पोस्ट में Target keyword  के लिए  इसमें उचित Headline, उचित कीवर्ड प्लेसमेंट, right content  करने और कई अन्य कारकों पर ध्यान देने का उपयोग करना शामिल है। जैसे :-
  • SEO friendly URL
  • Resposive वेबसाइट
  • कीवर्ड के साथ टाइटल
  • कीवर्ड के साथ डिस्क्रिप्शन
  • कीवर्ड के साथ टैग
  • वेबसाइट की स्पीड
  • मोबाइल स्पीड
  • कोड quality
2. Off  Page SEO – वो एक्टिविटी है जो आप दुसरो के वेबपेज में करते है जैसे लिंक छोड़ना, अपने वेबसाइट का दुसरो की वेबसाइट में। तो अब सवाल की किस किस वेबसाइट मैं अपने वेब साइट का लिंक छोड़ सकते है ?
  • सोशल मीडिया साइट
  • क्लास्सिफ़ेंड साइट
  • बुक मार्किंग साइट
  • आर्टिकल सबमिशन साइट
  • गेस्ट ब्लॉग
  • बिज़नेस लिस्टिंग्स साइट
  • etc.
अगर आप ये सारी एक्टिविटी करते है तो कुछ ही महीनो में आपका वेबसाइट सर्च इंजन में आपके टारगेटेड key word में सबसे ऊपर ट्रेंड करने लगेगा और आप अपने वेबसाइट से काफी बिज़नेस करने लगेंगे।
हमारा ये आर्टिकल आपको कैसा लगा नीचे कमेंट पर जरूर बताये और कुछ सवाल हो या किसी टॉपिक पर आप आर्टिकल चाहते हो हिंदी में तो जरूर बताये। Search Engine किस तरह से काम करता है. SERP की पूरी जानकारी हिंदी में 

Search Engine किस तरह से काम करता है. SERP की पूरी जानकारी हिंदी में

Domain Authority क्या होता है इसे कैसे Increase कर सकते है 


आज मैं आपको बताऊंगा कि Domain Authority Kya Hai और Domain Authority का search engine rank से क्या सम्बन्ध होता है. सभी bloggers और website owners का एक ही मकसद होता है, How to Get Higher Rank in search engine, blog या website ko search engine me top page par kaise laye .


Website ki Search Engine Rank increase करने में hundreds of web metrics काम करते है, लेकिन 1 web metric ऐसा भी है जो Search Engine Rank increase करने में very important role play करता है वो है, Domain Authority (DA). बहुत से bloggers इस term से परिचित है और बहुत से नहीं भी. जो नहीं जानते है ये Hindi Blog special उन bloggers के लिए है.

Domain Authority Kya Hai :

Domain authority एक web metric है जो Moz (SaaS company) द्वारा create की गयी है, इसका उद्देश्य किसी वेबसाइट की rating का निर्धारण करना है. जो 1-100 के grade या scale के बीच होता है | जहाँ 1 grade मतलब Low Rank और 100 grade means higher Rank होता है. इसलिए किसी भी वेबसाइट का Domain authority grade जितना ज्यादा होगा वो वेबसाइट search engine में उतनी ही higher ranking पे आएगी.

अब अगर आप इसे किसी दूसरी tarike से समझना चाहते है तो मैं आपको एक example बताता हूँ | जिसे करके आप इसे और भी अच्छी तरह से समझ सकते है| जैसे कि आमतौर पे ब्लोगर backlink बना के , onpage seo करके और social sharing कर के सोचते है कि उनकी साईट की कोई भी पोस्ट पहले page पे आ जाएगी तो ये बात बचकानी हो सकती है
Is trick ko apna kar aap pa sakte hai maximum traffic
 क्यूंकि, सारे bloggers और website owners भी यही करते है तो ऐसे में पंगा (competition) बराबर हो जाता है और जिस साईट का Domain authority ज्यादा होता है वो बाजी मार लेता है. हांलांकि Domain authority बढ़ने में ये सारे फैक्टर काम करते है लेकिन मैं आपको कुछ और भी factor बताऊंगा जो आपकी DA को बढ़ने में आपकी मदद करेंगे .

Domain Authority (DA) kaise check karte hai:

जैसा की मैंने ऊपर बताया की Domain authority Moz की एक web metric है | इसलिए आपको Moz.comपे जाना होगा जहा आप अपनी साईट की DA और अपने Competitor site की DA का analysis कर सकते hai. आज के लिए बस इतना ही अगले blog में मैं आपको बताऊंगा कि अपनी Website ki Domain Authority kaise  Increase करते hai.

Domain Authority क्या होता है इसे कैसे Increase कर सकते है

CorelDraw में Pen Tool का इस्तेमाल कैसे करें  - सबसे जरुरी टूल है ये CorelDraw या किसी भी डिजाइनिंग के सॉफ्टवेर का. इसका सही से इस्तेमाल आ गया तो समझो पूरी डिजाइनिंग ही आ गयी. ये बिलकुल लचीला टूल है जिसे बहुत ही Creative ढंग से इस्तेमाल किया जाता है. निचे ये इमेज देखें. इसमें साफ़ दिखाई दे रहा है के टूल को Select करने के बाद आपको एक बार जहाँ से Line या Curve Line की शुरुआत करनी होती है वहां क्लिक करना होता है. 


फिर जब दूसरी बार क्लिक करते हैं तो Click का बटन दबाकर ही रखना होता है और माउस को इधर उधर करने से Line का Curve Shape बदलता रहता है. अब जब भी छोड़ दो, वैसे ही रुक जायेगा. 

दूसरी ध्यान देने वाली बात है.
पहला Curve Shape बन्ने के बाद अगर उस लाइन को आगे और बढ़ाना है तो उसमे एक Force रह जाता है जिसे या तो इस्तेमाल करना होता है या फिर उसे आखिर वाले नोड पर Alt के साथ क्लिक करके तोड़ सकते हो. निचे दोनों तरीके से दिखाया गया है. 

इमेज में आप देख सकते है के कैसे दूसरी बार शेप बनाने के लिए पहली शेप की उर्जा को इस्तेमाल किया गया. अब निचे वाली इमेज में देखिये के इसे कैसे बीच में तोड़कर अगली शेप को अपनी मर्ज़ी से बना सकते हैं. 




इसमें साफ़ देख सकते है के जब भी मैं दूसरी शेप बना रहा हूँ तो उससे पहले आखिरी शेप के Node पर Alt बटन दबाकर क्लिक कर रहा हूँ जिससे उसका फाॅर्स टूट जाता है और मैं इसे नए तरीके से बना सकता हूँ. Pen टूल से आप तरह तरह की चीज़ें बना सकते हैं. याद रखिये अगर किसी टूल की सही में प्रैक्टिस करनी है तो वो यही है. इसके इस्तेमाल से ज्यादा से ज्यादा Tracing करें तो आप एक अच्छे डिज़ाइनर बन सकते हैं. ये सभी सॉफ्टवेर में पाया जाता है. जैसे Photoshop, Illustrator, InDesign और लगभग सभी, फिर चाहे वो 3D के ही क्यों न हों. 

Point Line Tool - CorelDraw Kaise Istemaal Karte Hain

अगर इसे इस्तेमाल करने में कोई समस्या है तो निचे कमेंट कर सकते हैं , मैं हर संभव मदद करूँगा. नए Tutorials की जानकारी के लिए ट्रिक्स इन हिंदी को दोवारा विजिट करें.

CorelDraw में Pen Tool का इस्तेमाल कैसे करें

Corel Draw Tutorials Hindi Me - Corel Draw Seekho Hindi Me

Corel Draw Tutorials Hindi Me - CorelDraw ek bahoot hi badiya designing software hai. Ye specially Logo creation, Cartoon banane, ya printing level ke kaam karne ke liye banaya gya hai. India me CorelDraw bahoot hi jyda istemal kiya jane wala software hai. Corel Draw Tutorials Hindi me sikhne ke liye maine pahle bhi kafi tutorials likhe huye hai. Aap ye tutorials yaha par click karke dekh sake hai. 

टॉप 20 Corel Draw Shortcut Key इन हिंदी

Corel Draw Tutorials Hindi Me इस्तेमाल करने के लिए उसकी Shortcut Keys का पता होना बहुत जरुरी है , जिस से आप अपना बहुत सारा टाइम बचा सकते है ,जितनी Shortcut Keys का आप इस्तेमाल करोगे उतना जल्दी आप काम कर सकते है .Corel Draw इस्तेमाल करते समय एक हैट आपका कीय बोर्ड पर होना चाहिए दूसरा हाथ माउस पर और माउस काकाम से कम उपयोग करे .
S.NoWorkShortcut Keys
1Shape टूल के लिएF10
2Zoom के लिएZ
3Pan Ya Hand टूल के लिएH
4Freehand टूल के लिएF5
5Smart Drawing के लिएShift + S
6Artistic Media टूल के लिएI
7Rectangular टूल के लिएF6
8Ellipse टूलF7
9PolygonY
10TextF8


11Object को जोड़ने के लिएCTRL + L
12Object को जोड़ने के लिएCTRL + K
13Object को Curve बनाने के लिएCTRL+ Q
14Objects का ग्रुप बनाने के लिएCTRL+ G
15Ungroup के लिएCTRL+ U
16एक Object को दूसरे Object के निचे लिखे जाने के लिएCTRL + PgDn
17एक Object को दूसरे Object से ऊपर लिखे जाने के लिएCTRL + PgUp
18Object को सबसे नीचे ले के जाने के लिएShift +PgDn
19Object को सबसे ऊपर ले के जाने के लिएShift+ PgUp
20Gradient Color भरने के लिएF11
Corel Draw में और भी बहुत सारी Shortcut की है,
लेकिन ये 20 की सबसे खास है इनका सबसे ज्यादा इस्तेमाल करे.

Corel Draw Tutorials Hindi Me - Corel Draw Seekho Hindi Me

Best Camera App Like DSLR

ये 5 एंड्रॉयड ऐप मोबाइल कैमरे को बना देती हैं DSLR  जब से स्‍मार्टफोन्‍स में 2 डुअल रियर कैमरे और 24 मेगापिक्‍सल तक के फ्रंट कैमरे आना शुरु हुए हैं, तब से लोगों को शानदार तस्‍वीरें लेने के लिए DSLR जैसे प्रोफेशनल कैमरे की याद नहीं आती। पर अगर आपके पास इतने हाईपावर कैमरे वाला स्‍मार्टफोन अबतक नहीं है, तो कोई बात नहीं, क्‍योंकि ये 5 एंड्रॉयड ऐप्‍स आपके मोबाइल कैमरे को ऐसी पावर देंगी, जिससे DSLR लेवल की तस्‍वीरें खींचना आप‍के लिए हंसी खेल हो जाएगा। ये है 5 Best Camera App Like DSLR
Best Camera App Like DSLR - ये 5 एंड्रॉयड ऐप मोबाइल कैमरे को बना देती हैं DSLR

1: Camera 360 Ultimate

इस कैमरा ऐप में कई ऐसे प्रोफेशनल शॉट्स मोड के साथ साथ कई तरह के स्‍पेशल इफेक्‍ट्स और शिफ्ट-टिल्‍ट कैमरा जैसे टूल्‍स हैं। जिनके इस्‍तेमाल से बहुत आसानी और बिना एडिटिंग के आप प्रोफेशनल लेवल की तस्‍वीरें शूट कर सकते हैं। इस ऐप का यूज करने के बाद आपको डुअल रियर कैमरे की जरूरत भी महसूस नहीं होगी, क्‍योंकि इसके शिफ्ट-टिल्‍ट फीचर द्वारा आप बैंकग्राउंड और मोशन ब्‍लर वाली तस्‍वीरें भी ले सकेंगे, जिनका लुक वाकई कमाल होगा। इस ऐप में एक खास सेल्‍फी मोड भी है, जो सेल्‍फी लवर्स का दिल खुश करने को काफी है।
2: Retrica
कॉलेज गोइंग यंगस्टर्स के लिए रेट्रिका कैमरा ऐप बहुत ही कमाल की है। इसमें मौजूद तमाम फिल्‍टर्स और लाइव स्‍टीकर्स से आपके द्वारा ली गई तस्‍वीर या सेल्‍फी वाकई कमाल की बन जाती है। इस ऐप की एक और खासियत यह है कि इस ऐप की हेल्‍प से ली गई तस्‍वीरों को आप आईफोन फोटोज सा लुक एंड फील दे सकते हैं। यह पूरी तरह से फ्री ऐप है, जिसे प्‍लेस्‍टोर पर सर्च करके फोन में इंस्‍टॉल कीजिए और कूल लुक वाली तस्‍वीरों से सबको चौंका दीजिए।

3: Google Camera
यूं मो गूगल कैमरा ऐप एंड्रॉयड की मेन कैमरा ऐप से मिलती जुलती है, लेकिन फिर भी इस ऐप में कुछ ऐसी खूबियां हैं, जो आपके फोन से ली गई तस्‍वीरों में जान डाल देंगी। इस ऐप द्वारा 360 डिग्री पैनोरमा तस्‍वीरें कुछ ज्‍यादा ही बेहतर ढंग से ले सकते हैं। लेंस ब्‍लर फीचर द्वारा किसी के बैंकग्राउंड को फोकस या डिफोकस करना बहुत आसान है। यह ऐप एंड्रॉयड वियर को भी सपोर्ट करता है, यानि आप बिना फोन को टच किए भी शानदार तस्‍वीरें ले सकते हैं।

4: Snapseed
यह ऐप दरअसल एक कैमरा ऐप तो नहीं बल्कि गूगल द्वारा बनाई हुई एक बेहतरीन फोटो एडिटिंग ऐप है। जो एवरेज से लेकर बेकार तस्‍वीरों में जान डालने की क्षमता रखती है। इस ऐप में तस्‍वीरों को बेहतर बनाने के लिए कई तरह के फिल्‍टर्स मौजूद हैं। इस ऐप में तस्‍वीर पर इफेक्‍ट देने के लिए लेयर सिस्‍टम के साथ ही जेस्‍चर कंट्रोल से भी जुड़े ऑप्‍शन मौजूद हैं।

Best Camera App Like DSLR - ये 5 एंड्रॉयड ऐप मोबाइल कैमरे को बना देती हैं DSLR


How to remove your name from Truecaller 

Truecaller से ऐसे Remove करवाएं अपना नाम -  फोन में Truecaller ऐप होने का सबसे बड़ा फायदा ये होता है कि किसी भी अननॉन नंबर की डिटेल पता चल जाती है। ठीक इसी तरह यदि आप भी किसी अंजान नंबर पर फोन करेंगे तब आपका नाम भी पता चल जाएगा। दरअसल, इस ऐप की मदद से उन सभी नंबर की डिटेल पता लगाई जा सकती है जिनका रजिस्ट्रेशन इस ऐप पर किया गया है। हालांकि, आप चाहें तो यहां से अपना नंबर और नाम हटा भी सकते हैं।
remove name from trucaller app

ऐसे काम करती है Truecaller से नाम हटाने की ये ट्रिक

इस ट्रिक के बारे में जानने से पहले आप थोड़ा सा ट्रूकॉलर ऐप के बारे में जान लें। इस ऐप को यूजर्स गूगल प्ले स्टोर से फ्री इन्स्टॉल कर सकते हैं। इसे 'True Software Scandinavia AB' कंपनी ने डिजाइन किया है। ऐप का साइज 8.6MB है। प्ले स्टोर से इसे अब तक 50 करोड़ से ज्यादा बार इन्स्टॉल किया गया था। ये ऐप एंड्रॉइड के वर्जन 4.0.3 या उससे अधिक पर काम करता है।

इस ऐप में ये फीचर मिलेंगे 

  • किसी नंबर के बारे में पता लगाना।
  • किसी कॉलर और टेलिमेकर्स को ब्लॉक करना।
  • ऐप से डायरेक्ट कॉल करना।
  • फ्रेंड बात करने के लिए फ्री है या नहीं, पता लगाएं।

adnse
Truecaller से नंबर हटाने की प्रॉसेस

Truecaller से अपना नंबर हटाने के लिए यूजर को इस बात का ध्यान रखना होगा कि वो खुद भी इस ऐप का इस्तेमाल नहीं कर सकता। साथ ही अपने स्मार्टफोन पर इस ऐप की मदद से किसी यूजर की डिटेल भी पता नहीं लगा सकते। ये ऐप अन्य सोशल मीडियम से किसी यूजर की डिटेल को ट्रैक करता है। यानी किसी यूजर ने फेसबुक, वॉट्सऐप, वेबसाइट या अन्य मीडियम पर अपने नंबर से जुड़ी डिटेल दी है, तब वो इसे ट्रैक कर सकता है।
How to remove your name from Trucaller
Android Users - Menu > Setting > About में जाकर अकाउंट को Deactivate कर लीजिये। 
trucaller se naam hatane ki trick
Iphone Users - Menu > About >  में जाकर अकाउंट को Deactivate कर लीजिये। 

trucaller se naam kaise hataye
Windows Users - More > Settings > Help में जाकर अकाउंट को Deactivate कर लीजिये। 
तो ये थी जानकारी Truecaller से अपना नाम Remove करने की। उम्मीद करते है ये पोस्ट आपको अच्छी लगी होगी होगी

Truecaller से ऐसे Remove करवाएं अपना नाम Tricks In Hindi

SEO Kya Hai? SEO Kaise Kare

SEO Kya Hai? SEO Kaise Kare - Digital markting और internet की दुनिया इस तीन शब्द के word “seo” के ऊपर निर्भर करती है। बहुत बड़ी-बड़ी कंपनियां जो अपने Proudct और servies online बेचती है। वह अपने लाखों रुपये सिर्फ seo पर ख़र्च करती है। आखिर ये seo क्या है। 
अगर आपने भी इसका नाम बार-बार सुना है या कही लिखा हुआ देख है या फिर आप internet और digital markting में नये है तो यह word आपको बार बार सुने को मिलता है।
आज हम आपको बिल्कुल simple शब्दों में इसके बारे में बताने वाले है। अगर आप इस Post को एक बार ध्यान से पढ़ ले तो आप आसानी से seo के बारे में जान जायगे।
SEO की fullform Search engine Optimization है। जिसका सीधा संबंध search engine से होता है। seo एक प्रकार से search engine में अपनी website को Top पर लाने के Rules होते है ताकि हमारी website पर traffic increase हो सके। अगर आप इन Rules को follow करते है तो आपकी website search engine में first Page पर show होती है।
Website को first Page पर लाना इसलिए जरूरी होता है क्योंकि अधिकतर लोगों first page पर आने वाली website पर ही visit करना पसंद करते है और इसके लिए हमे Seo को follow करना पड़ता है।
कोई भी कंपनी या व्यक्ति अपनी website इसलिए बनाता है ताकि वह अपनी service और Product बेच सके परन्तु अगर उसकी website पर traffic यानी लोग ही visit नही करते तो वह अपने product कैसे बेचेंगे। इसलिए हमें अपने वेबसाइट को first page पर लाने की लिए Search engine optimization करनी पड़ती है। जिसे हमारी website पर traffic increase हो।
Websites पर traffic increase होने से हमारी online earning बढ़ती है। साथ ही website की value search engine में increase हो जाती है जिसे website की Ranking बढ़ती है।
उदाहरण के लिए – Search engine optimization बिल्कुल traffic Rules की तरह होता है। जैसे traffic को सुचारू रूप से चलाने के लिए हमे Roadmap की आवश्यकता होती है ताकि लोगों को किसी समस्या का सामना न करना पड़े और वह जल्दी से अपना सही रास्ता चुनकर अपने Target तक पहुच सकते।
ठीक उसी प्रकार Seo भी एक search engine Traffic Rules है। ताकि जब कोई कुछ भी सर्च कर उसे जल्दी से सही जानकारी मिले। इसके लिए search engine का roadmap होता है जिसे Seo कहते है।
Seo और traffic rules दोनों ही लोगो के लिए काम करते है। ताकि हमारी journey अच्छी रहे। जैसे अगर आप “what is seo” सर्च करते है लेकिन जो Result आते है वह किसी और चीज के बारे में है तो आपको बार-बार search करना पड़ेगा जिसका मतलब है कि आपकी journey और user experience ख़राब रहा।
इसलिए google search engine अपने user experience बढ़ने के लिए Seo factor का इस्तेमाल करता है ताकि उनके user को fastly और correctly information दे सके। हर search engine के अपने seo factor होते है। आज के समय मे Google सबसे बड़ा search engine है जो पूरी दुनिया मे सबसे ज़्यादा इस्तेमाल किया जाता है। google लगभग 200 Seo factor पर काम करता है।

SEO Kya Hai? SEO Kaise Kare - अगर आप Seo को एक लाइन में समझना चाहते है तो आप यह जान ले कि google वही content को पसंद करता है जिसे user पढ़ना पसन्द करते है। जिसे वह content अपने आप first page पर चला जाता है। और अगर पसंद नही करते तो धीरे- धीरे नीचे चला जाता है। यह google seo का सबसे important factor है।

Search engine क्या होता है

सबसे पहले आपके लिए यह जाना बहुत जरूरी है कि search engine क्या है। search engine एक ऐसा search engine एक ऐसा alogrithum है जो हमारे द्वारा internet पर search की गई जानकारी की सही information देने का काम करता है इसके लिए वह अपने डेटा base में मौजूद जानकारी को fastly crawl, index और Rank देता है जिसे SNRP (Search engine Result Page) कहते है। किसी भी Page को search Result में Top पर लाने के लिए Seo की बहुत बड़ी भूमिका होती है। google,Yahoo, Bing यह सब search engine है।

Blog Commenting क्या है? Commenting के क्या क्या फायदे हैं

SERP– जब आप किसी भी सर्च engine में search करते है जैसे what is Seo Hindi उसके बाद जो list आती है उसे Search engine Result page यानी SERP कहते है।
आज के समय मे google search engine सबसे ज्यादा popular है क्योंकि अगर हमे कुछ भी सर्च करना होता है तो हम google search engine का इस्तेमाल करते है। दुनिया मे 70 Precent लोग google का use करते है।
क्या आप जानते है जब आप google पर कुछ भी search करते है तो google आपको best Result देने के लिए 200 factor का इस्तेमाल करता है जो article google के इन मापदंडों के अनुसार होता है वही आपको google के first page पर show होता है। जिसे आपको बिल्कुल सही जानकारी मिल सके।

Search engine kaise kam karta hai

जैसे अगर आप search करते हो “what is seo” तो Search engine पहले से ही crawl और index की हुई Ranking list को आपके सामने ले आता है। जिसे search engine के bots और spider लगातार 24 hours crawl और index करके अपनी Ranking list बना लेते है। और जैसे ही आप कुछ सर्च करते है तो वह आपको search engine Result Page(SERP) पर दिखाई देती है।
वैसे तो सभी search engine के काम करने की अलग अलग technic होती है। लेकिन हर search engine तीन step में काम करता है।
1. Crawling
2. Indexing
3. Ranking
अब आप समझ चुके होंगे कि search engine क्या है और कैसे काम करता है। इसलिए अब आपको search engine optimise समझने में आसानी होगी। क्योंकि seo का सीधा संबंध search engine से होता है।

Type of Search Engine Optimisation

1. On page Seo
2. Off page Seo
Search engine optimisation के दो importent factor है। सबसे पहले हम बात करते है on page Seo के बारे में क्योकि यह website पर organic traffic increase करने का सबसे importent factor है। अपनी website को search engine optimise के अनुसार setup करने के लिए जो काम उस पर किया जाता है उसे on page seo कहते है।
ऐसा करने से आपकी organic traffic increase होती है। google पर keyword search करके direct आपकी website पर आना organic traffic कहलाता है।
On page seo के बहुत सारे factor होते है जिनकी help से आप अपनी website को on page के लिए optimise कर सकते है हम आपको कुछ common factor बताने वाले है।
♦website design
♦website speed
♦Website Structure
♦Website Favicon
♦Mobile friendly Website
♦Title Tag
♦Meta Description
♦Keyword Density
♦Image Alt Tag
♦URL Structure
♦Internal Links
♦Highlight Important Keyword
♦Use Heading Tag
♦Post Good Length
♦Google Sitemap
♦Check Broken Links
♦SEO Friendly URL
♦Google Analytics
♦Social Media Button
♦HTML Page Size
♦Clear Page Cache
♦Website security HTTPS etc

Off Page Seo

अपनी website और Post को search engine में Rank करने के लिए उसके link को internet पर promt करना off Page seo कहलाता है।
जब आपकी post को internet पर promt और share किया जाता है तो इसे search engine को कुछ singal जाते है। जिसे search engine उस Post की Ranking increase कर देता है।

Off Page seo करने के बहुत सारे तरीके है। जिनकी help से आप अपनी Post की Ranking increase करके अपनी website का Traffice बढ़ा सकते है। हम आपको कुछ off Page करने के तरीके बता रहे है।

1.Social Networking Site

♦ Facebook
♦ Facebook page
♦ Facebook group
♦ Twitter
♦ Google plus etc

2.Social Bookmarking Site

♦ Tumblr
♦ Pinterest
♦ Diggo
♦ Digg
♦ Linkdin
♦ Reddit
♦ Stumbleupon
♦ Delicious etc
3.Guest Posting
4.Forum Posting
5.Blog Commenting
6.Blog Directory Submission
7.Search Engine Submission
8.Classifieds Submission Site
9.Video Sharing site
10.Photo Sharing site
11.Question and Answering Site

Type of Seo Techniques SEO Kya Hai? SEO Kaise Kare

♦White hat seo
♦Black hat seo
Seo Techniques भी दो प्रकार की होती है। जिन्हें आपके लिए समझना बहुत जरूरी है। अगर आप इन्हें नही समझते तो आप traffic increase करने की जगह अपनी website को नुकसान पहुंचा देते है।

White hat seo

जब आप अपनी website के लिए natural way से search engine optimiation और link building करते है तो उसे white hat seo कहते है। यह link आपकी website के लिए बहुत अच्छे होते है। इसे website की value बढ़ने के साथ traffic भी increase होती है।

Black hat seo

जब किसी website को google में rank करने के लिए search engine की guidelines follow नही की जाती उसे Black hat seo कहते है। इसके इस्तेमाल से website पर बुरा प्रभाव पड़ता है।
तो दोस्तो इस पोस्ट में हमे आपको SEO Kya Hai? SEO Kaise Kareकिसी भी website के लिए कितना जरूरी होता है इसके बारे में बिल्कुल आसान शब्दो मे बताया है। अगर यह Post आपके लिए Helpful रही हो तो इसे share करना मत बुले। और अपने सवालों को commnet box में लिखें।

SEO Kya Hai? SEO Kaise Kare Apni Website Ke LIye

Blog या Website पर Commenting के द्वारा High Traffic Kaise लायें 

यदि आप एक हिंदी ब्लॉगर है तो ये पोस्ट आपके लिए बहुत महत्व रखती है. वैसे तो हिंदी ब्लॉग पर Traffic बढ़ाने के बहुत से उपाय है, पर उन सभी उपायों में से एक है Commenting. दोस्तों Comments Blog पर traffic लाने का सबसे अच्छा और सरल तरीका है. जिसे कोई भी ब्लॉगर आसानी से कर सकता है और अपने Blog पर Traffic ला सकता है.

Blog Commenting में आपको अपने जैसे ही दुसरे ब्लॉग पर कमेंट्स करना होता है जो की बहुत आसान है. इसलिए मेरी निजी राय में सभी blogger को Comments करना सिख लेना चाहिए. आज हम इस पोस्ट में
Comments की उपयोगिता के बारे में विस्तार से जानेंगे.

हम सब जानते है Comments के बिना कोई भी Blog या Website ख़ाली सा लगता है और जिस Blog पर अधिक Comments आते है उस Blog Website का प्रभाव रीडर्स और विसिटर्स पर बहुत अधिक पड़ता है. इसलिए किसी भी ब्लॉगर को कमेंट्स की महत्व को हल्के ढंग से नहीं लेना चाहिए. मैंने बहुत से ब्लॉगर
को देखा है जो बिल्कुल भी दुसरे के ब्लॉग या वेबसाइट पर कमेंट्स नहीं करते है.जिसका नतीजा यह होता है की ऐसे ब्लॉगर के ब्लॉग पर बिल्कुल भी ट्रैफिक नहीं आता है.


ऐसे ब्लोग्गेर्स को लगता है की वह अपने ब्लॉग पर बहुत अच्छा कंटेंट लिखते है और रीडर्स उनके ब्लॉग को पढने के लिए टूट पढेंगे बस वह इसी सोच के कारण ब्लॉग्गिंग के क्षेत्र में मात खा जाते है ऐसे ब्लॉगर न कुछ सीखना चाहते है और न ही समझना उन्हें न तो कमेंट्स का महत्व पता होता है और न ही कमेंट्स करना. 

यदि आप इस पोस्ट को ध्यान से पढेंगे तो आप समझ जायेंगे की ब्लॉग्गिंग के क्षेत्र में कमेंट्स का क्या महत्व है.

Blog Commenting Kya Hai कमेंटिंग का अर्थ है

टिप्पणी जो हम किसी भी ब्लॉग या वेबसाइट पर उनके आर्टिकल्स को पढने के बाद करते है ब्लॉग पर मौजूद किसी भी आर्टिकल्स पर हमारे विचार अगल – अलग हो सकते है हमें कोई आर्टिकल अच्छा लग सकता है या कोई आर्टिकल बुरा भी लग सकता है हम अच्छे या बुरे के आधार पर किसी भी आर्टिकल पर अपने विचार रख सकते है. यह एक सधी हुई प्रतिकिया होती है जो किसी रीडर्स या विसिटर्स के द्वारा ब्लॉग या वेबसाइट पर की जाती है. कमेंट्स में हमें सिर्फ अपने विचार रखने होते है और विचार या प्रश्न ऐसे होने चाहिए जिससे सामने
वाला आपके कमेंट्स के महत्व को समझ सकें और वह भी अपनी प्रतिकिया दे सकें.

Blog Par Commenting Karna Kyon Jaruri Hai

रीडर्स की प्रतिक्रियाओ के बिना ब्लॉग्गिंग की कल्पना भी नहीं की जा सकती है. जिस ब्लॉग या वेबसाइट पर कमेंट्स नहीं आते ऐसे ब्लॉग को कोई पूछता तक नहीं है किसी भी ब्लॉग पर आने वाले कमेंट्स मुख्यतः दो धाराओं से आते है पहला वो जो ब्लोग्गेर्स है और दूसरा वो जो यूनिक रीडर है जो सीधे सर्च इंजन से आते है कमेंट्स हमारे ब्लॉग के लिए backlink का काम करती है. जिससे हमारे ब्लॉग या वेबसाइट की ट्रैफिक बढ़ती है.|


मैंने बहुत ऐसे ब्लॉगर को देखा है जो कमेंट्स ही नहीं करते है हद तो तब हो जाती है जब उनके ब्लॉग पर आये एक कमेंट्स का जबाब अपने ही कमेंट्स बॉक्स में देकर पल्ला झाड़ लेते है यदि आप ब्लॉग में कामयाब होना चाहते है तो हमें दुसरे के ब्लॉग पर रोज़ाना कम से कम दस से पन्द्रह कमेंट्स जरुर करना चाहिए |

Blog Commenting Ke Kya Fayde Hai ब्लॉग पर ट्रैफिक कैसे लाये

ये एक बड़ा मसला है जो अक्सर नए ब्लॉगर के सामने आकर खड़ा हो जाता है लेकिन इस सवाल का जवाब बहुत सरल है यदि आप अपने ब्लॉग पर ट्रैफिक लाना चाहते है तो रोज़ाना अपने जैसे ब्लॉग पर कमेंट्स करें आपने कभी भी जरुर नोटिस किया होगा यदि कोई हिंदी ब्लॉगर, इंग्लिश ब्लॉगर की साईट पर कमेंट्स करता है तो इंग्लिश ब्लॉगर जो हिंदी बिल्कुल नहीं जानता | फिर भी वह हिंदी साईट पर आकर आपके कमेंट्स का जवाब देता है |

इसलिए आप कमेंट्स के महत्व को समझिये और जितना हो सकें कमेंट्स करें साथ ही कमेंट्स का जबाव भी दें | कमेंट्स करने से आपके ब्लॉग को निम्नलिखित फायदे होते है
1. Backlink:- किसी भी ब्लॉग पर कमेंट्स करने पर आपके ब्लॉग को एक Backlink मिलता है जिससे आपके ब्लॉग के पोस्ट सर्च इंजन में जल्दी इंडेक्स होते है वैसे तो अधिकतर ब्लॉग से Nofollow Backlink मिलते है फिर भी इसकी बहुत अधिक महत्वता है.
2. Traffic:- कमेंटिंग करने से आपके ब्लॉग पर रेफ्फेरल ट्रैफिक मिलता है यदि आप किसी के भी ब्लॉग आर्टिकल पर कमेंट करते है तो वहा आप अपना एक URL लिंक छोड़ देते है जिसकी मदद से आपके कमेंट्स के
द्वारा आपके ब्लॉग पर दुसरे ब्लॉगर विजिट करते है जिससे आपके ब्लॉग की ट्रैफिक इनक्रीस होती है ये ट्रैफिक तभी आता है जब आप कोई सवाल या सुझाव करते है. कमेंट्स में Thanks, Thanks for your comments, आपका बहुत आभार आदि जैसे कमेंट्स करने से बचे क्योकि इस तरह के कमेंट्स करने वालों की भरमार है.


3. SEO:- दुसरो के ब्लॉग पर कमेंट्स करने से आपके ब्लॉग को बैकलिंक मिलता है और ये ऑफ पेज SEO के लिए बहुत ही जरुरी है जिससे आपके ब्लॉग पर ट्रैफिक और रैंकिंग दोनों इनक्रीस होती है इसलिए कमेंट्स करना बहुत जरुरी है.

मुझे लगता है पूरी पोस्ट को पढ़ने के बाद आप समझ गए होंगे की Commenting की क्या महत्वता है Blog पर Comments करना क्यों जरुरी है 

Blog Commenting क्या है? Commenting के क्या क्या फायदे हैं

WHAT IS AMAZON AFFILIATE MARKETING ?HOW TO EARN MONEY FROM AMAZON AFFILIATE MARKETING IN HINDI?

दोस्तों Google पर बहुत ही ज्यादा Search किया जाता है की Amazon से पैसा कैसे कमाया जाता है ,इसलिए मैंने सोचा की आज की इस पोस्ट के माध्यम से आप लोगो को बता दू की Amazon Affiliate Marketing क्या है और इससे पैसा कैसे कमाया जाता है | सबसे पहले हम बात करेंगे की Amazon Affiliate Marketing क्या है उसके बाद हम बात करेंगे की इससे पैसा कैसे कमाया  जा सकता है |

Amazon Affiliate Marketing क्या है ?

सबके मन में यही आ रहा होगा की क्या है ये Amazon Affiliate Marketing ?दोस्तों amazon एक ऑनलाइन shopping की या e-commerce वेबसाइट है जहा लोग भिन्न -भिन्न प्रकार के Product जैसे Mobile ,Computer ,Table ,laptop ,clothes etc. खरीदते है लेकिन Amazon Affiliate एक ऐसा अमेज़न का प्लेटफार्म है जहा आप खुद उनके Product  को Sell करवा सकते है | अब आप सोचोगे की उनके सामान को बिकवाकर हमे क्या फायदा होगा ,तो मै आपको बता दू  अगर आप उनके प्रोडक्ट को सेल करवाते है तो उसके बदले आपको बहुत अच्छा कमिशन मिलता है | कमिशन आपको सभी प्रोडक्ट पर अलग अलग मिलता है ,तो  समझ गए होंगे की अमेज़ॉन एफिलिएट मार्केटिंग क्या है और आपको पैसे क्यों मिलते है| 
                                                                 

     How To Earn Money From Amazon Affiliate Marketing 

दोस्तों अब बात आती है की हम इससे पैसा कैसे कमा सकते है ,अगर आप इससे पैसा कमाना चाहते है तो आपको सबसे पहले एक ऑडियंस बनाना पड़ेगा कहने का मतलब ये है की जब तक आप के पास ग्राहक नहीं रहेंगे तो आप प्रोडक्ट को ऑनलाइन सेल कैसे करेंगे ,इसीलिए आपको एक YouTube चैनल क्रिएट करना होगा या एक facebook पेज भी बना सकते है और आपके पेज या चैनल पर कम से कम 1000 Subscriber भी होने चाहिए नहीं तो इस प्लेटफार्म पर अप्रूवल नहीं मिल पाता है लेकिन इस समय आपके पास कितने follower है ये मायने नहीं रखता है क्योकि आप इसके बिना भी अपना account बना सकते है| चलिए अब मै स्टेप by स्टेप बताता हु की Amazon Affiliate Account कैसे खोलते है -

स्टेप 1-

सबसे पहले आपको Google में सर्च करना होगा Amazon Affiliate ,सर्च करने के बाद अमेज़न एफिलिएट की वेबसाइट पर जाए | 

स्टेप 2-

वेबसाइट पर जाने के बाद अपना Account Create कर ले | 

स्टेप 3-

Account बनाने के बाद आप जो भी प्रोडक्ट सेल करना चाहते है उसका लिंक निकाल ले और उसको अपने followers को शेयर कर दे यदि कोई प्रोडक्ट आपके लिंक से खरीदेगा तो आपको उसका कमिशन मिलेगा| जैसे ही आपके Amazon  में 1000 रूपये हो जायेगे आप उसको अपने Bank Account में Transfer कर सकते है| 

Note - अगर आप affiliate  से पैसा कमाना चाहते है तो सबसे पहले अपने followers को बढ़ाये तभी आप अच्छा खासा पैसा कमा सकते है| 

AMAZON AFFILIATE MARKETING से पैसे कैसे कमाए