Header Ads

इन 8 खतरनाक Computer Virus के बारे में जानते हैं आप?

अपने नया कंप्यूटर लिया है और उसमे वायरस आ जाये तो बहुत बुरा लगता है। दुनिया में ऐसे खतरनाक Computer Virus हैं जो सिस्टम को फॉर्मेट करने पर मजबूर कर देते हैं। वायरस के बारे में थोडा सा ज्ञान भी आपके कंप्यूटर को सुरक्षित रख सकता है। हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसे ही 8 most dangerous computer virus के बारे में जो आपके कंप्यूटर को बहूत हानी पहुंचा सकते हैं।

ये हैं 8 Most Dangerous Computer Virus

I Love You – ये वायरस साल 2000 में आया था। आमतौर पर ये वायरस ईमेल के द्वारा आप तक पहुँचता है। इसकी सब्जेक्ट लाइन  I love you होती है और अटैचमेंट Love letter for you.  अगर आप इस मेल को  ओपन करते हैं तो ये एक्टिव हो जाता है। यह वायरस अपने आप ही रिप्लकैट हो जाता है और आपके मेल बॉक्स में मौजूद 50 लोगों को वही मैसेज सेंड कर देता है जिससे यह अापके सिस्टम में इंस्टॉल हुआ था।
Melissa – ये 1999 में पाया गया था। ये भी ईमेल के साथ ही आपके सिस्टम में आता है। यह वायरस जिस नेटवर्क पर भी अटैक करता है उसे ओवरलोड कर देता है। एक साथ कई मेल आपकी आईडी से जाने लगते हैं। इसका नाम फ्लोरिडा की डांसर के नाम पर रखा गया है।
My Doom – साल 2004 में पाया जाने वाला ये वायरस भी बहुत खतरनाक है। यह वायरस “mail transaction failed” जैसे सब्जेक्ट के साथ आता है। यह मेल की एड्रेस बुक में ट्रांसफर होकर डाटा क्रेश कर देता है।

Storm Worm – ये वायरस एक लिंक से फैलता है। जैसे ही यह सिस्टम में डाउनलोड होता है हैकर्स आपके कम्प्यूटर पर कमांड कर इंटरनेट के द्वारा स्मैप सेंड कर सकते हैं।
CIH – ये वायरस 1988 में पाया गया था। यह डार्ड ड्राइव को क्रैश कर देता है। सिस्टम की BIOS चिप को ओवरराइट कर देता है।
Anna Kournikova – साल 2000 में इस वायरस का पता लगा था। ये वायरस भी ईमेल से आता है। यह वायरस डाटा को इफैक्ट करने के साथ ही बहुत तेजी से मैल बॉक्स में फैल जाता है। इसमें टेनिस स्टार Anna Kournikova की फोटो अटैच होती है।
Conficker virus – साल 2009 में ये वायरस सोशल नेटवर्किंग साईट से फैला था। यह विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम पर चलने वाले सिस्टम को इफेक्ट करता है। इस वायरस का यूज फाइनेंसियल डाटा और इंफोर्मेशन चुराने के लिए किया जाता है। इस वायरस के आने के बाद यह लोकल नेटवर्क से कनेक्ट होकर दूसरी डिवाइसेज को भी इन्फैक्ट कर देता है। यह करोड़ों सरकारी ऑफिस, बिजनेस और होम कम्प्यूटर्स को इन्फेक्ट कर चुका है।
Beast Trojan Horse – साल 2002 में ये वायरस एक सॉफ्टवेर की मदद से फैला था। यह कम्प्यूटर में डाउनलोड होते ही पूरे सिस्टम को कंट्रोल कर लेता है। एक कुछ ही सेकण्ड में कॉपी होकर हजारों फाइल बना लेता है। इस वायरस से इन्फेक्टेड सिस्टम पर हैकर्स आपके फाइल मैनेजर, रजिस्ट्री एडिटर, वेबकेम, पावर ऑप्शन, रिमोट आईपी स्कैनर आदि पर पूरा कंट्रोल कर लेते हैं।

1 comment:

  1. बहुत ही सुन्दर प्रस्तुति .... Nice article with awesome explanation ..... Thanks for sharing this!! :) :)

    ReplyDelete

Powered by Blogger.